Hindi Love Story : प्यार या लगाव : हिंदी कहानी

Hindi Love Story : प्यार या लगाव : मेरी जिन्दगी के सबसे खुबसूरत दिन थे वो. जीवन की सारी खुशियाँ मिल रही थी. क्योंकी मैं एक लड़की से प्यार करता था और वह मुझसे बहुत ज्यादा प्यार करती थी. कितने सुनहरे दिन थे वो. था. हमारे दिन ऐसे कट रहे थे जैसे कोई सपना सच हो रहा हो. हमारा हर पल साथ बीतता. ‘पायल’ नाम था उसका.

दिन भर हमारी प्यार भरी नोकझोक चलती रहती. हम दोनों अक्सर झगड़ा करते रहते थे और मैं तो जानबूझ कर करता क्योंकी उसका मनाना बहुत ही अच्छा लगता था.

जब वह सर झुकाकर सॉरी बोलती तो उसके चहरे का मासूमियत देखकर मुझे हँसी आ जाती. उसे झट से गले लगा लेता.

मैं अक्सर उससे एक सवाल करता, “कोई इतना प्यार भी करता है किसी से.”

तो उसका एक ही जवाब होता – “मैं किसी और के बारे में नहीं जानती हूँ. मेरे लिए तुम ही सब कुछ हो. तुम्हारे बिना मैं इस जीवन की कल्पना से भी कांप जाती हूँ.  तुम नहीं तो कुछ भी नहीं मेरा इस संसार में.”

मुझे इस बात का एहसास था की पायल जितना प्यार करने वाली लड़की मुझे कभी नहीं मिलेगी. मैं भी उसे खोने से डरता था.

Hindi love story – कितना प्यार करती थी वह मुझसे

एक दिन कॉलेज नहीं गया था. मेरी तबीयत ठीक नहीं थी. मुझे बुखार आ रहा था. कुछ देर बाद पायल का फ़ोन आ गया. मैंने उसे बताया की मुझे बुखार आ रहा है. मैं  उसे बताना नहीं चाह रहा था, क्योंकी मुझे पता था वह क्लास छोड़ कर चली आएगी और हुआ भी यही! कुछ ही देर बात वह मेरे पास थी.

ये भी पढ़े : एक अजीब लड़की : भूत को दे बेठी दिल

प्रश्न पर प्रश्न होने लगे. दवा ली? खाना खाया? मुझे पहले बताया क्यों नहीं?

मैं मन-ही-मन सोचता ऐसा बुखार तो रोज आये. इतना प्यार इतनी सेवा मिले तो हर दुःख मंजूर है. ऐसा प्यार नसीबो से मिलता है.
इनता प्यार देखकर कर मेरे पापा बोलते – “तू उस से शादी कर ले.” मैं भी यही सोच रहा था. क्योंकी मैं भी उसके बिना नहीं रहा सकता था. वही मेरी सब कुछ थी. मैं  उसके बारे में सोचता रहता और उसी से शादी के सपने देखता.

Hindi love story

Hindi love story – उसने अचानक बात करना बंद कर दिया

काफी दिन हो गये. एक दिन अचानक उसका कॉल आया और बोली – “मैं तुमसे प्यार नहीं करती हूँ. मुझे कॉल मत करना. मुझसे मिलने की कोशिश मत करना.” इतना कहकर उसने फ़ोन काट दिया. मैंने उसे कॉल नहीं किया- सोचा मजाक कर रही है. इतना सीरियस तो कभी नहीं होती है. मुझे उसका इस तरह के गुस्सा पसंद आता था. बहुत अच्छा लगता था जब वह गुस्सा होकर बोलती थी.

एक दिन बीत गया, फिर दो दिन,……….ऐसे ही 5 दिन बीत गये. उसका कॉल नहीं आया. मैं कॉल करता तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ आता. मैं बहुत ही परेशान हो गया. एक तो 5 दिन से बात नहीं हुई थी दूसरा पता नहीं क्या प्रॉब्लम आ गई कि कॉल नहीं लग रही है. आज तक ऐसा नहीं हुआ. वह खुद कभी इतने दिन तक बिना बात किये नहीं रही. 2 घंटे कॉल नहीं जाये तो कॉल पर कॉल करने लगती थी. मेरी समझ में नहीं आ रहा था की क्या करे. बहुत सोचने पर भी कुछ रास्ता नहीं निकला. बस एक ही रास्ता था उसके घर जाकर पता करना. मैं तुरंत ही बाइक निकला और उसके घर के तरफ चल दिया.

Hindi love story – मैं उसके घर गया

उसके घर पंहुचा तो उसके पापा मिल गये. “कौन हो आप.” -उसके पापा ने मुझसे पूछा.

“जी मैं पायल का दोस्त हूँ. पायल से कुछ काम है.”- मैंने उनसे कहा, तब तक पायल आती हुई दिख गई.

उसके पापा ने पायल से पूछा – “कौन है यह? तुमसे मिलने के लिए आया है.”

“कौन है यह? मैं नहीं जानती इसे.” पायल ने मेरी तरफ देखते हुए कहा. उसका चेहरा बिलकुल अनजाने की तरह लग रहा था. जैसे वो मुझे जानती ही नहीं हो. मैं उसके चहरे की तरफ देख रहा था.

पढ़े : एक अकेली लड़की

यह क्या बोल रहीथी वो? मुझे नहीं जानती यह! तो वह सब क्या था? सारे वादे झूठे थे? वह प्यार झूठा था? वह साथ झूठा था? मैं आसू लिए आँखों से उसे देखा. एक बेरुखा सा चेहरा देखा, एक अनजान बनती आँखे.

Hindi love story – वह मुझे हमेशा के लिए छोड़ कर चली गई

जो लड़की मेरे बिना नहीं रहती थी वो मेरे बिना रह रही है. मैं उसकी कमजोरी था, मैं उसका सपना था. कैसे सबकुछ छोड़ दिया. मुझे रोते हुए अकेला छोड़ गई. उस रास्ते पर जहाँ से हमने साथ चला था. मेरे पापा ने मुझे बहुत समझाया “और भी लड़कियां है इस दुनियाँ में.” मगर मुझे कोई और नहीं चाहिए मुझे तो बस पायल चाहिए. बस पायल. मैं उसके बिना इस लाइफ के बारे में सोच भी नहीं सकता. उसके यादे ही अब जीने का सहारा है. और उसे हमेशा love करता रहूँगा.

आपको यह story कैसा लगी? जरुर कमेंट करे. आपके पास भी अपनी कहानी है तो हमे भेजिए.

Bhati Neemla

हेल्लो दोस्तों! 'हिंदी में स्टोरी' पर आपका स्वागत है. मेरा नाम BS भाटी नीमला है. यह ब्लॉग उन पाठको के लिए बनाया गया है जो हिंदी कहानियों में रूचि रखते है. कृपया अपने बच्चो को ये कहानिया पढने को जरूर दे ताकि उनमे एक सकारात्मक परिवर्तन हो सके.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Create Account



Log In Your Account



error: Content is protected !!